आइ नागपंचमी अछि, एहने धार्मिक मान्यता अछि

जनकपुर।

हरेक वर्ष श्रावण शुक्ल पंचमी के दिन मनाओल जायवला नागपंचमी परम्परानुसार आइ साँप के पूजा क घर के मुख्य दरवाजा पर लटका क मनाओल जा रहल अछि।

नेपाल पंचांग जूरी समितिक पूर्व अध्यक्ष आ धार्मिक विद्वान प्रो नुकसान पहुँचाबैत अछि, संगहि आगि, मेघ आ बिजलीक भय सेहो।

नाग पूजाक प्रथा वैदिक कालसँ शुरू भेल छल। वैदिक मान्यताक अनुसार नागकेँ नागक राजा मानल जाइत अछि। जौं साँप क्रोधित भऽ जाएत तँ पानिक कमी हेतैक तैं जलक लेल सेहो साँपक पूजा करबाक परम्परा अछि।

Leave a Reply

Your email address will not be published.